निपाह वायरस- लक्षण, बचाव तथा इलाज | NIV Infection Details | निपाह वायरस संक्रमण

निपाह वायरस एक संक्रमण रोग है जो सर्वप्रथम सन 1998 में मलेशिया के सुअर पालन फार्म में पाया गया था| निपाह वायरस मुख्यतः चमगादड़ तथा सूअर के माध्यम से जानवरों जानवरों में एवं इंसानों से इंसानों में स्थानांतरित हो जाता है| यदि संक्रमित चमगादड़ द्वारा पेड़ पर लगे किसी फल इसके आदमी को खाया जाए और वह फल किसी व्यक्ति द्वारा खा लिया जाए तो इस प्रकार Nipah Virus संक्रमण व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाता है| आज हम आपको निपाह वायरस संक्रमण से जुड़ी वैज्ञानिक तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं तथा साथ ही साथ निपाह संक्रमण से बचने के सुझाव, तरीके लक्षणों के बारे में विस्तार से बताएंगे

NIV Infection Details

निपाह संक्रमण एक लाइलाज बीमारी है उसके लिए अभी तक देश देश में कोई भी वैक्सीन अथवा दवाई नहीं बनी केवल प्राथमिक उपचार तथा सावधानी ही इस बीमारी से बचाव का तरीका है| Nipah Virus केवल संक्रमित चमगादड़ द्वारा गाए गए फलो तथा अन्य चीजों चीजों का सेवन करने से मानव शरीर में प्रवेश करती है |निप्पा वायरस बैट मूत्र और संक्रमित चमगादड़ के मल, लार और बिरथिंग तरल पदार्थ में मौजूद होता है|

Nipah Virus के लक्षण

यदि कोई व्यक्ति निपाह संक्रमण से संक्रमित हो जाता है तो उसके अंदर निम्नलिखित लक्षण उत्पन्न हो जाएंगे जैसे

  • बुखार
  • सर दर्द
  • सांस का फूलना
  • हाथ पैरों में दर्द
  • अत्यधिक कमजोरी
  • मानसिक स्थिरता
  • दम का घटना
Nipah Virus

एनआईवी संक्रमण का इलाज

यह संक्रमण एक लाइलाज बीमारी है जिसके लिए कोई विशेष वैक्सीन दवाई नहीं बनी| सफाई, शुद्ध भोजन का प्रयोग, सावधानियां ही इस संक्रमण से बचने का तरीका है| यदि कोई व्यक्ति इस बीमारी की चपेट में आ जाता है तो केवल प्राथमिक उपचार विद्यार्थी ही उसे दिया जा सकता है इसके अलावा कोई भी विशेष उपलब्धि परंतु भविष्य में जल्द ही वैज्ञानिक इसके लिए विशेष व्यक्ति उपलब्ध करा देंगे

NIV Infection से बचने के लिए क्या करें

  • जिन जानवरों से इस संक्रमण की फैलने की संभावना होती है उनके सीधे संपर्क में ना आए
  • उत्तम गुणवत्ता वाले हैंड वॉश का प्रयोग करें
  • हर बार खाना खाने या कोई भी वस्तु खाने से पहले अच्छी प्रकार अपने हाथों को दोहे
  • हमेशा प्रेस फ्रूट्स तथा खाद्य पदार्थों का प्रयोग करें
  • फलों सब्जियों को अच्छी प्रकार धोकर सुरक्षित जगह पर स्टोर करें
  • जिन स्थानों पर इस संक्रमण के फैलने की आशंका है वहां पर जाने से रुके
  • कटे-फटे फलों का सब्जियों का बिल्कुल उपयोग ना करें
उपयुक्त बताई गई सभी जानकारी की सहायता से आप इस Nipah Virus बीमारी से खुद को तथा खुद के परिवार को बचा सकते हैं इसके अलावा अभी तक मेडिकल फील्ड में इस बीमारी के लिए कोई विशेष उपचार नहीं उपलब्ध है| यदि आप इस संक्रमित बीमारी के बारे में और जानना चाहते हैं तो अपना प्रशन कमेंट बॉक्स में टाइप कर हमसे पूछ सकते हैं
Updated: June 9, 2019 — 8:02 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *