Water Crisis in India- जन संकट | Water Scarcity in India | Niti Aayog Report

Water Crisis In India is a big question for the country. If we will not aware about Water Scarcity In India then it will become major crisis of our country. According the report of Niti Aayog till 2020 the ground water of 21 major cities will drought. More than 70% water supply of India is polluted and in the world’s water quality index we stand on 120th place out of 122 it really too dangerous for our upcoming generation.  At this time more 40% Population are facing major Water Crisis In India and 50% state has become drought. Due to Lack awareness we are wasting excessive water in a large quantity and due this Water Scarcity In India is taking very serious form.

Water Scarcity In India

On the 11th June 2019 Niti Aayog has released their report upon Water Crisis In India in which they discussed about the upcoming Water Scarcity. They clearly mentioned if we don’t take this issue seriously than 40% of Indians will have no access to drinking water by 2030. Nearly 600 million Indians are facing high to extreme water stress and it will be more dangerous by 2050. There will be a 6% loss in the country’s Gross Domestic Product (GDP) by 2050.

भारत में बढ़ा जन संकट

हाल ही में नीति आयोग द्वारा भारत में बढ़ रहे जल सकंट को लेकर रिर्पोट जारी की गयी है जिसमें आयोग द्वारा बताया गया कि भारत की 40 प्रतिशत जनसंख्या भारी जल सकंट से गुजर रही है। साथ ही नीति आयोग द्वारा बताया गया कि वर्ष 2020 तक देश 21 महानगरो भूमिगत जल पूर्ण रूप समाप्त हो जायेगा। यदि इसी तरह से हम पानी का विनाश करते रहे और जगरूक नही हुये तो वर्ष 2050 तक देश सकल घरेलू उत्पाद (GDP)6 प्रतिशत तक गिर जायेगी। हमें अपने बच्चों के लिए पानी बचाना ही होगाण् इसके जरिए जल संरक्षण के उपायों को और प्रभावी बनाया जाए द्य जल संरक्षण को लेकर स्वच्छ भारत अभियान की तरह पानी को लेकर भी अभियान चलाएंद्य मध्य प्रदेश बिहार महाराष्ट्र जैसे राज्यो की स्थिति तो जल संकट के कारण दिन प्रति दिन बत्तर होती जा रही है। नीति आयोग की यह रिर्पोट रोंगटे खडे कर देनी वाली है क्या आप जानते है हम अभी तक भूमिगत जल का 61 प्रतिशत भाग का प्रयोग कर चुके है और 39 प्रतिशत भी जल्द ही खत्म कर देगे यदि समय रहते जागरूकता अभियान का संरक्षण कार्य ना चलाये गये तो|

भारत में बढ़ते जल संकट के दुष्प्रभाव

  • प्रत्येक वर्ष लाखो किसान सूखे के कारण आत्महत्या कर लेते हैं।
  • भारत में स्वच्छ पानी ना होने के कारण हर साल 2 लाख लोग अपनी जान गवा देते हैं
  • देश के अन्दर 70 प्रतिशत लोग दूषित पानी का प्रयोग पीने के लिये करते है।
  • यदि शीध्र देश का नागरिक तथा सरकार इस गम्भीर मुददे को लेकर जागरूक ना हुयी तो भविष्य यह आकडे और ज्यादा गम्भीर हो सकते है।
Water Crisis in India

Effects of Water Crisis in India

  • Bangalore, Delhi, Hyderabad among 21 cities to run out of Ground Water by 2020
  • According to Composite Water Management Index Every year due to inadequate access of potable water about 2 Lakh Indians dies.
  • Every day Approximate 500 people dies due to lack of drinking water
  • 75% households do not have drinking water on their premise.
  • 84% of rural households lack access to piped water supply.
  • Every year a number of farmer suicides due to lack of irrigation arrangements and climate change.
  • In 2019 approx 43.4% of India is reeling under drought because Pre-Mansoon Rain lowest in 65 years and India is facing its worst water crisis in Generations
  • Do you know that in previous 10 years the 61% Groundwater decline. 

What should We do to Safe Water?

  • We should focus of Rain Water Harvesting
  • We should use smart water management planning
  • There will be better agricultural practices
  • We should focus on the health of Rivers
  • Do not make water reservoir dams upon ecosystem zones.

जल संरक्षण के लिये किये जाने वाले  उपाय

इसके लिए सरकार ने नए जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया हैण् भविष्य में इसका फायदा दिखेगाण् राष्ट्रपति ने कहा है कि पीने के पानी की दिक्कत को कम करने के लिए काम किया जा रहा है और किसानों को सिंचाई के लिए पानी मुहैया करवाया जा रहा है तथा इसके अलावा नमामि गंगे योजना जैसी भी योजनाए सरकार द्वारा चलायी जा रही है जिसके अन्तर्गत गंगा में नालों के गिरने पर रोक को और अधिक प्रभावी किया जाएगाण् गंगा सफाई के बाद कावेरीए पेरियार और यमुना नदी भी साफ होगीण् गंगा की धारा को अवरिल बनाया जाएगा| सरकार के साथ साथ आम आदमी का भी जलसंरक्षण को लेकर जिम्मेदारीया बनती है। हमें चाहिये कि हम वर्षा के पानी को संरक्षित करे, अपने आसपास पेड़ पौधे लगाये,तालाबो का निमार्ण करे|

Important Download
Updated: June 21, 2019 — 9:19 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *